सीमा की देहाती बीएफ

Image source,बीएफ अच्छे वाले

तस्वीर का शीर्षक ,

फॅमिली सेक्सी स्टोरी: सीमा की देहाती बीएफ, इतना बोलकर विकास फ़ौरन स्टाफ-रूम की तरफ गया।दीपाली वो पेपर लिए वहीं खड़ी उसका इन्तजार कर रही थी।विकास- हाँ अब कहो.

एक्स एक्स बीएफ सेक्स हिंदी

वो मुस्कारने लगी और एकाएक मेरे सीने से लग गई।हम दोनों की गाड़ी पटरी पर दौड़ने लगी।फिर एक दिन मुझे बुखार आ गया और मैं स्कूल नहीं आया।वो शाम को मेरे कमरे पर आई. सेक्सी वीडियो बीएफ देसी देहातीअपनी कमसिन साली की मक्खन जैसी नाज़ुक बुर को चोदने का मेरा दिली ख्वाब पूरा होने वाला था।मैं अपने लण्ड को हाथ से पकड़ कर उसकी चूत पर रगड़ने लगा।कठोर लण्ड की रगड़ खाकर थोड़ी ही देर में रिंकी की फुद्दी का दाना कड़ा हो कर तन गया। वो मस्ती में कांपने लगी और अपने चूतड़ों को ज़ोर-ज़ोर से हिलाने लगी।‘बहुत अच्छा लग रहा है जीजू… ओहह… ऊ… ओह… ऊओह.

तो तुम मेरे साथ कर सकते हो।उसकी हालत को देखते हुए मैंने सोचा कि अभी तो चुदाई हो नहीं पाएगी पर तब भी मैं उठा और उसके बिस्तर पर बैठ गया।मेरे बिस्तर पर बैठते ही. ट्रिपल सेक्स बीएफ फुल एचडीउसका पानी मेरे मुँह मे ही निकल गया।तब भी मैंने उसकी चूत से अपना मुँह नहीं हटाया। थोड़ी देर बाद वो फिर से उत्तेजित होने लगी।मैंने उसकी चूत से मुँह हटाया औऱ चुम्बन करने लगा.

आखिर मैं पर्दा जो करती थी।मैं काफी घबराई हुई थी लेकिन मुझे दुर्गेश के आने से अन्दर ही अन्दर एक मीठी सी ख़ुशी हो रही थी।वो जिस खा जाने वाले अंदाज़ से मुझे देखता था.सीमा की देहाती बीएफ: मैं गोपनीयता के चलते अपने शहर का नाम नहीं बता सकती।मैं जहाँ रहती हूँ वो एक पॉश कॉलोनी है और हमारे पड़ोस में भी एक ऐसी ही फैमिली रहती थी।हम लोग भी किसी से किसी भी मायने में कम नहीं थे।मेरे पड़ोस में एक लड़का रहता था.

’मैं हौले-हौले धक्के लगाता रहा… कुछ ही देर बाद रिंकी की चूत गीली होकर पानी छोड़ने लगी।मेरा लण्ड भी उसके चूतरस से सन कर अब कुछ आराम से अन्दर-बाहर होने लगा था।हर धक्के के साथ ‘फॅक-फॅक’ की आवाज़ आनी शुरू हो गई।मुझे भी अब ज़्यादा मज़ा मिलने लगा था… रिंकी भी मस्त हो कर चुदाई में मेरा सहयोग देने लगी थी।वो बोल रही थी, ‘अब अच्छा लग रहा है जीजू.लेकिन मैंने उन्हें यह एहसास नहीं होने दिया क्योंकि मैं उनके अन्दर की आग और भड़काना चाहता था ताकि वो खुद चिल्ला-चिल्ला कर भिखारी की तरह मुझसे लण्ड मांगें।जब उसके शरीर की ऐंठन थोड़ी कम हुई तो उसने मेरे हाथों को पकड़ कर चूम लिया और बुदबुदाते हुए कहने लगी- राहुल, तुम्हारे हाथों में तो जादू है.

बीएफ बीएफ बीएफ पिक्चर बीएफ - सीमा की देहाती बीएफ

उसके छोड़े हुए पानी से गीले हो गए थे।उसकी बुर की आग से वो बिल्कुल पागल हो गई थी।उसने उछल-उछल कर अपना पानी गिराना शुरू कर दिया और इतना तेज़ गिराया की मेरा मुँह उसको चाटने की बजाए पी रहा था।मेरा मुँह एक तरह से भर गया था।उसको चूसने के बाद उमा पूरी निढाल हो गई थी।उसने थक कर अपने को अलग कर लिया और मुझसे बोला कि मैं उसके ऊपर एक कंबल डाल दूँ।मैंने उसके ऊपर कंबल डाल दिया।वह लेटते ही सो गई.ऐसे चुप रहोगी तो कैसे पता चलेगा?दीपाली- मैं भी उसी का इन्तजार कर रही हूँ आख़िर क्या बात है बोलो?दीपक एकदम चौंक गया क्योंकि बात करने दीपाली ने उसे बुलाया था.

’वो मेरे लौड़े को ऊपर-नीचे करके खूब चूस रही थी।फिर मैंने उसे बिस्तर पर लिटाया और उसकी टाँगों को फैला कर उसकी चूत पर अपना लौड़ा रगड़ा, वो तड़पने लगी।मैंने भी देर ना करते हुए उसकी चूत में अपना लौड़ा पेल दिया.सीमा की देहाती बीएफ उसने मना कर दिया।उसके यहाँ कोई रिवाज था कि 6 महीने तक चूड़ा पहनते हैं।मैंने कहा- अब कौन सा रिवाज निभा रही हो.

मगर उससे उठा ही नहीं गया।उसकी चूत में तेज़ दर्द हुआ और उसकी टाँगें भी जबाव दे गई थीं।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !अनुजा- अरे दीपाली चौकों मत.

बुर्के वाली सेक्सी बीएफ?

सीमा की देहाती बीएफ फिर जितनी चाहे चूत की पूजा और दर्शन कर लेना।मैंने फिर उसे घर छोड़ दिया, अपने घर पहुँच कर मैं तो बस सुबह का ही इंतज़ार कर रहा था। मैं 7 बजे ही जाग गया और उसे फोन किया।वो बोली- अभी तो 7 ही बजे हैं?मैंने कहा- बस जल्दी से आ जाओ वक्त ही नहीं कट रहा है।सुबह करीब 9.

सनी लियोन के बीएफ पिक्चर वीडियो में?xxx सेक्सी विडीओ

सीमा की देहाती बीएफ तभी दूसरे विषय का घंटा बज गया और विकास वहाँ से चला गया।दोस्तो, आप सोच रहे होंगे कि ये मैं क्या खिचड़ी पका रही हूँ मगर माफ़ करना.

सेक्सी बीएफ देहात के

मैं झट से उनके पास गया और उनसे पूछा- आपने मुझे बुलाया?तो आंटी ने कहा- हाँ मैंने आपको ही बुलाया है।मैं- क्या बात है?आंटी- तुम मेरी तरफ क्या देखते रहते हो?मैं पहले थोड़ा डर गया.वो पलंग पर उल्टा लेटी हुई थी।मैंने थोड़ा तेल हाथ में लिया और पैरों पर लगाने लगा, मेरे हाथ धीरे-धीरे उसकी जांघ तक जाने लगे थे, मेरा हाथ उसकी जाँघों पर पड़ा तो उसकी कंपकपी छूट गई, पर उसने मुझे कुछ नहीं कहा।मैं आगे बढ़ता रहा… हाय.

सीमा की देहाती बीएफ वहाँ जाकर सब समझ जाएगी।पापा मुझे टैक्सी में बिठा कर घर से ले गए। हम करीब 25 मिनट तक चलते रहे उसके बाद हम एक फार्म-हाउस पर पहुँचे, जो दिखने में काफ़ी आलीशान लग रहा था।दरवाजे के अन्दर जाते ही दरबान ने हमें सलाम किया और हम अन्दर चले गए।दोस्तो, अन्दर एक बहुत ही बड़ा घर था मैं तो बस देखते ही रह गई।पापा- देखो रानी कोई गड़बड़ मत करना.

बुर का चुदाई बीएफ

नायरा का बीएफउसने मुझे अपने कमरे से लगे कमरे में ही सैट किया और मैं सुबह 9 बजे उमा से विदा ली।मैं वहाँ से निकल गया।यह छोटी कहानी आप सब को कैसी लगी बताइएगा जरूर!.

मगर उसकी पकड़ इतनी मजबूत थी कि मैं किसी लड़की की भाँति एक मर्द के बाजुओं की पकड़ के आगे अपने आपको कमजोर महसूस कर रहा था।वो पूरी तरह से पसीने से लथपथ हो चुकी थी और उसके अंग से बहता पसीना मेरे भी पूरे शरीर को तर कर रहा था.मैं चुप रहा।फिर उन्होंने पूछा- कभी किसी ‘का’ लिया है?मैंने ‘ना’ में सर में हिलाया।तो उन्होंने कहा- मेरा लोगे?मैं चौंक गया कि वो ये क्या कह रहे हैं। मैं चुपचाप बैठा रहा।तो उन्होंने कहा- मुझे पता है कि तुम भी यही चाहते हो.

और हमने एक-दूसरे से हाथ मिलाया और गले मिले।उसने मेरे होंठों पर छोटी सी चुम्मी की और हम एक-दूसरे की आँखों में प्यार से देखते रहे थे।फिर हम दोनों बैठे और बातें शुरु की।हम दोनों एक ही सोफे पर बैठे थे।फिर हमने कुछ खाने का आर्डर दिया और खाना खा कर मैं उसे दिल्ली घुमाने ले गई।मैंने उसे दिल्ली की कुछ प्रसिद्ध जगहें दिखाईं.

मैं कुछ भी नहीं कर पाया।एक रात मैंने हिम्मत करके उनके कुर्ते को ऊपर किया और उनके चिकने पेट पर हाथ फेरते हुए धीरे से अपना हाथ उनकी सलवार में डाल दिया।अब मेरा हाथ उनकी पैन्टी के ऊपर था।अभी भी वो वैसे ही लेटी थीं।मेरी हिम्मत थोड़ी बढ़ी, अब मैंने अपना हाथ उनकी पैन्टी के अन्दर डालने की कोशिश की.

और मैं बस देख कर मुठ मार कर रह जाता था।पर अब नहीं इस मौके को मैं छोड़ना नहीं चाहता था।अंकल जब चले गए. कल शाम तक हम आ जाएँगे।अनुजा- अरे आंटी आप ये कैसी बात कर रही हो… दीपाली मेरी छोटी बहन जैसी है, आप चिंता मत करो.

हिंदी बीएफ सेक्सी कार्टून होगा ये बोलो अब तुम्हारी तबियत ठीक है न?फिर उधर से कुछ कहा गया होगा जिसके जबाव में माया ने कहा- अच्छा चलो.

सेक्सी बीएफ देवरिया

सीमा की देहाती बीएफ: मौका देख कर उसकी चूचियाँ दबाने लगता।एक दिन कामदेव ने मेरी सुन ली उसके माँ-बाप किसी रिश्तेदार की शादी में गए और उसके छोटे भाई को उसका मामा ले गया।वो घर में अकेली थी।रात में मेरे कमरे के दरवाजे पर फिर से वही दस्तक सुनाई दी.मेरे बदन को छू रहा था तो कोई मौके का फ़ायदा लेकर मेरे मम्मों को दबा रहा था।मुझे भीड़ में एक आवाज़ सुनाई दी- क्या माल है यार सन्नी.