गांव की जंगल की बीएफ

Image source,बीएफ चाहिए सेक्सी मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

18 साल की बीएफ: गांव की जंगल की बीएफ, इतना सुनते ही वो बुरी तरह अकड़ गई और उसने तेज़ी से मेरे मुँह पर पानी छोड़ दिया।मेरा पूरा मुँह उसके पानी से सन गया।वो निढाल हो कर गिर गई उसके मुँह से मेरा लवड़ा निकल गया।मेरा लौड़ा अभी खड़ा था इसलिए मैं उठ कर उसकी दोनों टाँगों के बीच में आ गया और अपने फनफनाते लण्ड का टोपा उसकी चूत पर रखकर एक ज़ोरदार झटका मार दिया।अभी सिर्फ टोपा ही चूत के अन्दर गया था कि उसकी चीख निकलते हुए बची.

देहाती बंगाली बीएफ

दूसरी सीट पर मैं और डॉली थे। अंकल और तीसरा दोस्त एक अलग सीट पर बैठे थे।सर्दी होने के कारण डॉली ने बैग से एक चादर निकाली और हम दोनों ने ही ओढ़ ली।कुछ देर ऐसे ही रहने पर मैंने डॉली से कहा- मुझे एक चुम्मी करनी है।तो उसने कुछ नहीं कहा. बंगाल का सेक्सी बीएफतो शायद मुझे अलग करके सो जाती… इसलिए मुझे जल्द ही कुछ करना था।मैं थोड़ी आवाज़ करके उनके पास में उल्टा सो गई.

उनका और मेरा नंगा बदन अब एक हो गए।मैंने अपने शरीर को उनके ऊपर फैला दिया। मैंने उसे अपनी जीभ से चाटना शुरू किया. बीएफ लड़कियों वालीतभी कुछ ऐसा हुआ जिसकी कल्पना मैंने नहीं की थी, उसने बिना कुछ कहे अपने होठों को मेरे होठों पे रख दिया और अपनी आँखें बंद करके एक लम्बा सा चुम्बन करने लगी… उसने मेरे दोनों होठों को अपने होठों में बंद कर लिया चूमने लगी।मुझे तो कुछ समझ ही नहीं आ रहा था कि मैं क्या करूँ… और तभी उसने वो हरकत भी कर दी जिससे मैं डर रहा था.

उसकी लंबी उंगलियाँ मेरे अण्डकोष पर और लंड पर घूमने लगीं।अब उसने अपनी मुट्ठी में मेरे लंड को पकड़ लिया.गांव की जंगल की बीएफ: जब वो सामने से चलती तो अच्छे-अच्छों के लण्ड खड़े हो जाते थे।इस बार मैं अपने गाँव बहुत साल बाद गया था, आज से 2 साल पहले जब मैं 8 साल बाद अपने गाँव गया हुआ था। सुबह मैं गाँव के चौक पर अपने दोस्त से मिलने गया हुआ था.

मगर इस बार उन्होंने कोई विरोध नहीं किया।मैं वापिस उन्हीं की तरफ सिर करके लेट गया।हम लोग खुले में सोते थे तो बाकी घर के लोगों का डर लगता था। मगर जब चूत दिखती है.मैं अपनी यादों में ही हमेशा तुम्हें इतना ही प्यार करता रहूँगा। इतना प्यार की तुम्हारी ये जिंदगी उस प्यार को समेटने में ही ख़त्म हो जाएगी.

अनुष्का शेट्टी बीएफ - गांव की जंगल की बीएफ

पर तृषा के पास अब उसे पहनने के अलावा और कोई चारा भी तो नहीं था।फिर हम दोनों घर पहुँच गए और एक-दूसरे की बांहों में बाँहें डाल कर सो गए।धीरे-धीरे वक़्त बीतता चला गया और मैं उसके प्यार में खोता चला गया। अब धीरे-धीरे मेरे दिल के हर ज़ख्म भी लगभग भरने लगे थे। जब भी मैं उसके साथ होता तो मैं हर पल को शिद्दत से जीता।जब भी वो मुझसे दूर होती.मैं समझ गई कि उसका पानी छूटने ही वाला है और थोड़ी ही देर में उसने मेरी कमर को जोर से पकड़ा और अपनी ओर दबोच लिया।थोड़ी देर वैसे ही पकड़ कर खड़ा रहा.

बताओ मुझे क्या करना है?मीरा ने राधे को कसमें दिलाईं और दिल से दोनों ने एक-दूसरे को अपना मान लिया। मीरा बहुत खुश थी कि आज उसका सपना पूरा हो गया है।राधे- जानेमन.गांव की जंगल की बीएफ ’ कहकर मैं और महक हमारे सूट की ओर गए, हमने अपना सामन रखा और मैं फ्रेश होने चली गई।मुझे बहुत रिलैक्स फील हो रहा था.

गाड़ी रोमा के घर से थोड़ी दूर रोक कर नीरज ने रोमा को हल्का सा किस किया और रोमा चली गई।उधर राधे और मीरा मूवी देख कर एक रेस्तरां में गए.

बीएफ सेक्सी वीडियो आदिवासी?

गांव की जंगल की बीएफ इतने में मैंने महसूस किया कि भाभी अकड़ने लगी हैं और उन्होंने अपना पानी छोड़ दिया है।जिसकी वजह से कमरे में फच-फच की आवाज़ आने लगी और भाभी निढाल हो कर गिर पड़ीं।लेकिन मैं कहाँ रुकने वाला था.

बीएफ भाभी देवर की?सेक्सी व्हिडिओ द्या ते

गांव की जंगल की बीएफ क्योंकि हमने चुदाई में कन्डोम इस्तेमाल नहीं किया था।कुछ दिन बाद पता चला कि उसकी शादी दुबारा तय हो चुकी है.

बीएफ हिंदी वाला बीएफ

रुक जाते तो ये सब नहीं होता न।मैं- आज रुक गया होता तो मेरी जिंदगी भी शायद यहीं थम गई होती। अब जाकर सुकून मिला है।निशा- हमारी फिल्म के निर्माता बहुत नाराज़ हैं। कितने लोग अब हमारी फिल्म का विरोध करेंगे.रगड़ खा रहा था, उसके चूचे मेरे हाथों से मसले जा रहे थे, उसकी योनि रगड़ कर मैं उसे और उत्तेजित कर रहा था।लेकिन कुछ ही पल बाद वो मेरी बाँहों में सुस्त पड़ गई.

गांव की जंगल की बीएफ लगता था जैसे आज ही साफ़ की हो।मुझसे रहा नहीं गया और मैं उसकी चूत चाटने लगा। उसकी फ़ुद्दी की चुदास बहुत बढ़ गई, वो बहुत ही अधिक चुदासी हो रही थी और उसके कंठ से चुदास भरी सिसकारियाँ निकल रही थीं- उह.

बीएफ नंगी पिक्चर हिंदी

बीएफ फिल्म न्यूउस समय पहली बार लण्ड चुसवाने में क्या मज़ा आ रहा था।उसके बाद वो बोलने लगी- जल्दी से मेरी चूत में डालो.

इसलिए मेरे स्खलन का फिलहाल कोई अहसास मुझे नहीं था और मैं पूरे वेग से उसकी चूत को रौंदने में लगा था।अचानक अनामिका अकड़ने लगी और उसने एक तेज ‘आह्ह.तुमको लड़कियों की भावनाएँ भी समझ में नहीं आती हैं।अब मैंने थोड़ा शरमाते हुए जवाब दिया- मैंने कभी भी आपके बारे में ऐसी बात सोची ही नहीं और वैसे भी आपकी शादी हो चुकी है.

पर कुछ बात नहीं बन पाई। मैंने वो बात भूल कर अपनी पढ़ाई पर ध्यान लगा लिया।कुछ दिन बात वापस वो मुझे मिली तो मैंने अपने दोस्त की गर्लफ्रेण्ड की मदद से उसको प्रपोज किया।पहले तो उसने साफ मना कर दिया और कहने लगी- मैं ऐसी लड़की नहीं हूँ।मैं रोज उसे फोन करता.

करीब 15 मिनट तक मैं अपने बदन से उसके बदन को मसलता रहा। उसकी चूत पूरी गीली हो चुकी थी। उसका हाथ मेरे लण्ड तक पहुँच चुका था.

इसके बाद तो जैसे दीप्ति मेरी हो कर रह गई थी। इसी तरह मैंने दीप्ति को कई बार चोदा।फिर एक दिन उसने मुझे बताया- राहुल, मेरे मेन्सिज़ मिस हो गये हैं, शायद मेरे पेट में तुम्हारा…?मैं बहुत खुश था।दोस्तो, यह मेरी सच्ची कहानी है. भाभी उत्तेजना में मेरी गाण्ड में उंगली डाल रही थीं तो मैंने भी वैसा ही करना आरम्भ कर दिया। कुछ पलों तक भाभी ने मेरा हथियार चचोरा तो मेरा लण्ड पानी छोड़ गया.

बीएफ फिल्म बहन भाई की उसके बाद मैं उतने ही लण्ड को चूत में धीरे-धीरे अन्दर-बाहर करने लगा।वो अब भी दर्द से कराह रही थी और मैं चोदता जा रहा था।वो चिल्ला रही थी- एयेए ऊ माँ.

बीएफ कुत्तों की

गांव की जंगल की बीएफ: मैंने फिर से उसे किस करना शुरू किया और वो एक हाथ से मेरा लण्ड हिला रही थी।फिर मैंने बारी-बारी से उसके बड़े-बड़े मम्मों को खूब चूसा.मौसी ने उसे बीच में सुलाया और वो खुद एक किनारे पर सोने के लिए लेट गईं।वे अपने साथ एक तेल की मलिया (मिट्टी की कटोरी) भी साथ लाई थीं। वे अपने बेटे को तेल लगाने लगीं.