बीएफ देसी बिहारी

Image source,जानवर लेडीस के बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू फिल्म अमेरिका: बीएफ देसी बिहारी, जानू अभी पूरा बाकी है।’उधर कुसुम मेरे मम्मे पीती हुई मेरी चूत में ऊँगली कर रही थी।क्या घनघोर चुदाई थी। मैंने एक रात में तीन बार चूत चुदवाई और दो बार गाण्ड मरवाई.

jio बीएफ वीडियो

मम्मी ने कहा- तुम्हारे पापा और मैंने भी फ़ैसला किया है, जब चाहो चुदाई करेंगे मिल कर!तब मैंने अपनी बहन की चूत में तेल लगाया और मम्मी के…फ़िर पहले मैंने अपनी बहन की चूत में अपना लंड डाला और उसकी चुदाई की और चुदाई से पहले उसने मेरा लंड चूसा और मैंने उसकी चूत को फ़िर मैंने मम्मी की चुदाई की. चीन बीएफ सेक्सीवो बड़े मादक अन्दाज़ मे मुस्कुरा दीं और मेरे लण्ड को आजाद करते हुए बोलीं- ठीक है! लगता है अपने अनाड़ी बेटे को मुझे ही सब कुछ सिखाना पड़ेगा.

मुझे मेल कर अपनी राय जरूर दें, उसके बाद मैं रिया से अपनी दूसरी मुलाकात का किस्सा सुनाऊंगा।मेरी मेल आईडी है-[emailprotected]. दिल्ली वाला सेक्सी बीएफरात को हमने ब्लू-फिल्म देखने का प्लान तय किया। एक लेस्बियन सेक्स हमने देखा… उसे देख हम भी रह नहीं पाए और फिर एक-दूसरे को किस करने लगे। हम दोनों ने सोच लिया था कि इस फिल्म की तरह ही कुछ करेंगे।उस फिल्म में डिल्डो का इस्तेमाल किया गया था। हमने डिल्डो लाने की सोची.

और हालचाल के बाद जो महमूद ने उससे कहा उसे मैं सुनकर सन्न रह गई।उधर वाले ने भी शायद महमूद को कुछ बोलकर फोन रख दिया।मैं बोली- यह आप किससे बात कर रहे थे और मेरी चूत को चुदने के लिए उससे क्यों कह रहे थे?महमूद बोले- नेहा जी मेरा शौक है.बीएफ देसी बिहारी: तो मैंने पूछा- आज तुम हँस क्यों रही थीं?वो शरमा गई और उसने मुँह दूसरी ओर कर लिया। शाम ज्यादा हो गई थी माँ और रजनी पहले ही घर जा चुके थे। मैंने अन्धेरे का फ़ायदा उठते हुए उसके ऊपर गिरने का नाटक किया और उससे लिपट गया। इससे हुआ यह कि उसके चूचे मुझसे छुल रहे थे।रानी ने मुझे सम्भालते हुए कहा- अरे संभालो.

जुबान को बाहर निकल कर लौड़े के टोपे को चूसने लगीं।एक हाथ से लंड मसलते हुए मुझे देख कर लंड चाटने लगीं। मैंने उनके हाथ पीछे किए.ये तीनों बहनें अभी तक कुंवारी ही थीं और अपनी वासना खत्म करने का काम अपनी चुत में उंगली या बैगन खीरा मूली गाजर आदि डालकर चलाती थीं.

बीएफ चोदने वाली चोदने वाली - बीएफ देसी बिहारी

बोगी खाली तो ही है।तो वो मेरे बिल्कुल आगे वाली सीट पर लंबा लेट गया। हम दोनों आमने-सामने ऐसे लेटे थे कि एक-दूसरे को आराम से देख सकते थे।खैर.मेरा हाथ पकड़ कर मुझे अन्दर खींच लिया और मुझे सोफे पर बैठा दिया, फिर मेरा हाथ अपने हाथों में लिए हुए खुद ही मुझसे सट कर बैठ गए।एक गैर मर्द को अपने करीब पाकर मुझे कुछ होने लगा.

अर्जुन बाहर आया और भाभी को समझा दिया कि निधि बाहर नहीं आएगी, अब तुम खुलकर बिहारी के साथ चुदाई करना। उसको खुश कर देना ताकि जब तक यहाँ रहे.बीएफ देसी बिहारी पर मैं अभी तक कुंवारी वर्जिन हूँ। मुझे भी उनकी बातें सुन-सुन कर चुदने का मन करता था। पर मुझे इज्ज़त का और सील टूटने के दर्द से डर लगता था।एक दिन किस्मत ने साथ दिया और घर वालों को शादी पर जाना था, शादी में मम्मी-पापा जा रहे थे, मैं और दादी घर रहने वाले थे। दादी की तबियत अब ठीक नहीं रहती और वो बिस्तर में और अपने कमरे में ही रहती हैं।दिसम्बर के दिन थे और धुंध भी बहुत पड़ती है.

पर मैं नहीं चाहती थी।मैंने उससे ज़ोर का धक्का दिया और भागने लगी।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !भागते हुए मैं सीढ़ियों तक ही पहुँची थी कि उसने मेरा पैर पकड़ कर मुझे अपने ओर खींचा और मुझे गोद में उठा कर बेडरूम में ले गया। उसने मुझे बेड पर पटक दिया.

सेक्सी बीएफ चोदा चोदी करने वाला?

बीएफ देसी बिहारी तो मैंने पार्वती को साथ लिया और पास ही पहाड़ों पर जाकर एक बड़े से पेड़ के नीचे पत्थरों पर बैठ कर बातें करने लगा।पहाड़ के ठीक नीचे से ही मुख्य सड़क गुजरती है और पास ही एक हैण्डपम्प है.

हिंदी पिक्चर बीएफ फोटो?भूत कैसे बोलता है

बीएफ देसी बिहारी ये देख कर रजनी हैरान रह गई और उसे मजा भी आने लगा। इधर रानी ने मेरा लण्ड को सहला रही थी। मैं रजनी को पूरी तरह गर्म कर चुका था। उसकी बुर की फांकों से रस निकलने लगा था। वो रस मैं पी रहा था।मैंने उसकी बुर से सर को हटा लिया और उसके सर को अपने लण्ड की तरफ़ किया और लण्ड को चूसने को कहा।पहले तो उसने मना किया.

ज्यादा बीएफ

मैंने मधु की बेचैनी देखकर मोहन के लंड को पकड़ कर छेद पर लगाकर मोहन को अन्दर करने को कहा, मोहन ने झटका लगाया तो वो चिल्ला उठी- अरे मर गई रे.आलोक इधर सिमरन को चोदने की तैयारी कर ही रहा था कि तभी उसने देखा कि सिमरन की दोनों बहनें हरलीन और शीरीन भी अपने अपने मम्मों को सहला रही हैं.

बीएफ देसी बिहारी सिमरन और हरलीन ने जल्दी से अपने अपने मुँह शीरीन की चूत पर लगा दिए और उससे निकल रहा आलोक और अपनी बहन की चूत के मिश्रित पानी को जीभ से चाट चाट कर पीने लगीं.

हाथी घोड़ा की सेक्सी बीएफ

जबरदस्ती बीएफ सेक्सी मूवीझूलते हुए उठता है और बिस्तर के किनारे पर बैठ जाता है। वो अपनी मम्मी की ओर देखते हुए दाँत निकालता है और फिर घमंड से अपने तगड़े लण्ड की ओर इशारा करता है।‘हाँ.

मैं कर देती हूँ।मैं पहले दीप्ति का फेशियल करने लग गई, उतनी देर सुनील पास ही बैठा रहा, वो आज कुछ अलग मूड में था, वो गंदे-गंदे जोक सुना रहा था, बीच-बीच में मेरे को घूर भी रहा था, कभी मेरी गांड और कभी चूचियों को घूर रहा था.मैं सब सम्भाल लूँगा।मेरे ऐसा कहने पर चाचा जी खुश हो कर चले गए।कुछ दिन ऐसे ही गुजर गए और मैं फिर से अपनी पुरानी हरकतों पर उतर आया। मैं सुमन चाची के आस-पास रहने की कोशिश करने लगा।चाचा जी को गए दो महीने होने को आए.

उसके हाथ पायल की मुलायम गाण्ड को भी सहला रहे थे। बीच-बीच में वो पायल की गाण्ड के छेद में उंगली भी घुमा रहा था।थोड़ी देर की मस्ती के बाद पायल भी गरम हो गई और गाण्ड को पीछे धकेल कर पुनीत के मज़े को दुगुना बनाने लगी।पायल- आह.

तुम जो रात भर तड़पती हो। अकेले में अपने जिस्म से खेलती हो और तो और मुझे ये भी लगता है कि तुम हमारी चुदाई का पूरा-पूरा साथ दोगी यानि कि चुदाई का पूरा-पूरा मजा तुम भी लोगी।’‘अच्छा चलिए लगे हाथ ये भी बता दीजिए कि मैं चुदाई का पूरा-पूरा मजा कैसे लूँगी?’‘क्योंकि जो लड़की मूतती भी हो बड़े स्टाइल से और अपने उंगली से अपनी तड़प का पानी चाटती हो तो इसका मतलब यही हुआ न कि वो लड़की बड़ी चुदासी होगी.

अब अलका ने इसी पोसिशन में सहयोग करना शुरू किया, हमारे होंट एक दूसरे को चूसने लगे।जैसे जैसे हम ओर्गास्म की तरफ़ बढ़ते गए, होंट बहुत जोरों के चूसे जाने लगे. मैंने देखा तो भैया खर्राटे ले रहे थे।भाभी ने मेरी तरफ देखा और दरवाजा बंद कर दिया।दोस्तो, आप लोग हमारी हालत अच्छे से समझ सकते हैं.

बीएफ हिंदी सेक्सी आवाज में अब तो घुसा दीजिये अपना पूरा बाकी का बचा हुआ लंड भी! अययीईई आअह्हह … कसम से जवानी में चुदवाने का मज़ा ही अलग है!ये सब मैं अफ़रोज़ को सुनाने के लिये कह रही थी जिसे वो सुन भी रही थी और बहुत मज़े लेकर हम दोनों को देख भी रही थी.

देसी बीएफ देसी वीडियो

बीएफ देसी बिहारी: जो अब तेज हो चुकी थीं।मैं उसके सूट के ऊपर से उसके मम्मों को दबाने लगा। फिर मैंने सूट की पीछे से जिप खोल दी.मस्त लौंडिया थी! साँवली से रंग, छरहरा बदन! उठी हुई मस्त चूचियाँ!उसने अपना पल्लू सामने से लेकर कमर में दबाया हुआ था, जिससे उसकी चूची और उभर कर सामने आ गई थी.