देहाती जंगल बीएफ

Image source,नंगा नाच नंगा नाच

तस्वीर का शीर्षक ,

पंजाबी में बीएफ सेक्सी: देहाती जंगल बीएफ, ’ निकली और वो मेरे लौड़े को गड़प कर गई।मैं जोर-जोर से अपना लंड उसकी चूत के अन्दर-बाहर करने लगा।उसको भी बहुत मजा आ रहा था.

चुत चाटना

तुम घबराओ मत।तो मुझे देख कर वह कुछ शांत हुई, मैंने उसे कुछ ढीला छोड़ा।तो वो बोली- तुम यहाँ क्या करने आए हो?मैंने कहा- तुम नंगी होकर क्या कर रही हो।वैशाली शर्माते हुए बोली- मैं यहाँ मेरी झांटें साफ़ करने आई थी।मैं- मैं कर दूँ. इंग्लिश पिक्चर नंगी पिक्चर इंग्लिशया यूँ कहो कि अपने पति की जगह अब वो संजय की पार्ट्नर बन गई।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !तो यह थी सुनीता की दास्तान.

दोस्तो, मेरा नाम राहुल है, उम्र 20 साल है, मेरी हाईट 5 फुट 8 इंच है। मैं चंडीगढ़ में रहता हूँ। मैं शांत स्वभाव का हूँ।मैं आज आपसे जो कहानी बता रहा हूँ. ग्वीडो डाउनलोड’उन्होंने मेरी साड़ी ऊपर की और एक हाथ साड़ी के अन्दर डाल कर मेरी नंगी गाण्ड को चारों तरफ से गुलाल लगाने लगे।ऐसा नहीं है कि पहली बार कोई पराया मर्द मेरी नंगी गाण्ड को दबा रहा हो.

अब वो मेरे लंड को सहला रही थी कि तभी वो नीचे बैठ गई और और मेरे लंड को चूसना शुरू कर दिया।उसके लंड चूसने के तरीके से मैं समझ गया कि सोनाली ने इसके बारे में कुछ गलत नहीं बताया था.देहाती जंगल बीएफ: नहीं तो प्राब्लम हो जाएगी, यह पानी ऐसे गिरता रहेगा।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !पायल उठी और बाथरूम में जाकर बैठ गई और अपना ध्यान इस बात से हटाने की कोशिश करने लगी।दोस्तो, एक बहुत पुराना राज.

आपकी चूचियाँ अब तक टाइट हैं।अब भाभी को आगे झुका कर मैं उनकी पीठ को चूम रहा था, भाभी के पीठ काफ़ी चौड़ी थी.तो मैं उसके साथ बैठ गई।कुछ दूर जाने के बाद उसने मुझसे पूछा- तेरी क्लास कब की है?मैंने उसे बताया- भाई 10-30 से है।तो वो बोला- फिर तो गाड़ी तेज चलानी पड़ेगी.

ब्लू पिक्चर दे दो ब्लू पिक्चर - देहाती जंगल बीएफ

उसके बाद जब मैं पैदल नहीं चल पा रही थी तो उसने मुझको रिक्शे से मेरे घर पर छोड़ा।उस के 1-2 हफ्ते तक मैंने उससे बात नहीं की.वह अपनी सास को दवा लेने का बताकर 15 दिन के लिए आई थी।अब बस मुझे अपना काम करना था। मैं उसे पहली बार जरा दबा कर चोदना चाहता था.

5 इंच लंबे और भंयकर काले मोटे थे और उनमें मोटी-मोटी नसें बिल्कुल साफ़ दिख रही थीं। बाकी दो तो 7 इंच के ही रहे होंगे लेकिन वे भी मोटे इतने अधिक थे.देहाती जंगल बीएफ फिर कुछ देर बाद हमने एक-दूसरे को चूमना चाटना शुरु किया और हम फिर से तैयार हो गए।वो मना कर रही थी लेकिन गरम होकर मान गई।उस रात हमने 4 बार चुदाई की.

और कहा- तू मुझे कितना प्यार करता है? क्या तू अपनी मॉम की माँग भर सकता है? मॉम की बात सुनकर मेरा चेहरा खिल उठा।मैंने मॉम से कहा- ओह मॉम आई रियली लव यू.

सेकसीवडीयो?

देहाती जंगल बीएफ थोड़ा सब्र करो।उसने यह कहते हुए मेरे सीने में चिकोटी काट ली और हंस दी।उसकी इस शरारत पर मैंने भी उसके मम्मों को अपनी मुठ्ठी में भर लिए और दबा दिए।पूजा- उई मांsss.

इंडियन इंग्लिश ब्लू पिक्चर?सेक्सी भाभी वाली

देहाती जंगल बीएफ उस ख़ुशी को देख कर मैं भी खुश हो गया और जोश में आ गया।मैडम मेरे लण्ड से बहुत खूबसूरती से खेल रही थीं।मैं भी उसका मजा ले रहा था.

भाई ने की बहन की चुदाई

और वो गहरे पानी में बहने लगा।मैं उसको बचाने के चक्कर में पानी में कूद गया। पानी कम होने की वजह से मैं पत्थर से टकरा गया। मुझे चोट लग गई.जो छत पर बुलाया है।खाना खाने के घंटे भर बाद सब सोने की तैयारी करने लगे, मैं और मंजू एक साथ बैठ कर बात कर रहे थे, मैंने उससे पूछा- हमारी शादी होने वाली है.

देहाती जंगल बीएफ तुम कहाँ हो?सूर्या- भोपाल में ही।मैं- क्या?सूर्या- हाँ सोनाली के साथ ही एक होटल में रुका हुआ हूँ।मैं- साले तुम भी कमीने हो गए हो.

नंगी लड़कियों के फोटो

बड़ा बड़ा चूचीजाओ भाभी के पास और उन्हें इसकी यह हालत दिखाओ।फैजान ने जाहिरा का हाथ पकड़ा और उसे अपने लंड पर रखने की कोशिश करने लगा। फैजान की कोशिशों के वजह से जाहिरा का हाथ अपने भाई की अकड़े हुए लंड से छुआ भी.

मगर वो मज़ा नहीं आता था।मैंने उसको बोला- मैं कुछ मदद करूँ।वो हँस पड़ी और उसने बात टाल दी।वो मुझसे बहुत ही ज्यादा बात करती थीं और उनकी चुदास बढ़ती जा रही थी जो मुझे उनकी नजरों में मेरा लवड़ा देख कर समझ में आ जाती थी।यह सब समझ कर अब जब भी मैं उनके घर जाता तो उसके बेटे को कह देता था कि जा.लेकिन इसके बावजूद भी जाहिरा ने अपनी पोजीशन को चेंज करने की और अपनी चूचियों को छुपाने की कोई कोशिश नहीं की।वैसे भी उसकी और मेरी शर्ट इतनी ज्यादा ओपन थी कि हमारे पास अपनी खुली चूचियों को छुपाने के लिए कुछ नहीं था।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !हमारी तवज्जो हटाने के लिए फैजान बोला- यार आज तो बाहर मौसम काफ़ी खराब हो रहा है.

मगर किसी को पता चल जाता तो मेरी इज्जत खत्म हो जाती।मैंने सोचा कि लंड भी खा लिया जाए और किसी को पता भी ना चले ऐसी कोई जुगत भिड़ानी पड़ेगी।अब मेरा दिमाग़ चुदास की भड़ास निकालने के लिए चला कि किसी अंजान मर्द से ही चुदवाना सही रहेगा। मुझे तो वैसे भी अंजान मर्दो से चुदवाना पसंद है, साले ठोकते भी राण्ड की तरह हैं। प्यार-व्यार चुदाई में मुझे भी बिल्कुल पसंद नहीं है। चुदाई में तो दोनों तरफ से गालियाँ हों.

फिर थोड़ी देर बाद मैंने धीरे-धीरे लण्ड रगड़ना शुरू किया। अब उसे भी मज़ा आने लगा और वो ज़ोर-ज़ोर से धक्का लगाने को कहने लगी- चोदो और ज़ोर से चोदो.

पर मुझे नहीं पता था कि उसका फायदा उसके बाप को मिलेगा।उसने मेरे ब्लाउज के दो बटन खोल दिए थे और मेरे ब्लाउज के अन्दर हाथ डाल कर मेरी बड़ी-बड़ी गोरी चूचियों को मसलते हुए रंग लगा रहे थे।उसके हाथ की हरकत से पता चल रहा था कि वो रंग लगाने से ज्यादा मेरी चूचियों को मसलने में मस्त हैं।‘बस करो देवर जी, कितना रंग लगाओगे? तुम्हारे दोस्त के रंग लगाने के लिए भी तो जगह छोड़ दो. तो जाहिरा की चूचियों ने मेरी चूचियों के साथ रगड़ना शुरू कर दिया।अब हम दोनों खूबसूरत लड़कियों के जिस्म के ऊपरी हिस्से बिल्कुल नंगे हो रहे थे। जाहिरा को भी जब मज़ा आने लगा.

ओपन इंग्लिश पिक्चर वो बहुत ही कामुक लग रही थी मैंने जाकर सीधे उसको अपनी बाँहों में भर लिया।उसने जल्दी से दरवाजा बन्द कर दिया और एक-दूसरे से लग गए।मैंने उसके कपड़े उतारे.

अमरीकन सेक्सी वीडियो

देहाती जंगल बीएफ: जिसमें से उसकी आधी चूचियाँ बाहर दिख रही थीं।उसकी गोरी-गोरी चूचियों को देख कर मेरा लंड और भी कड़ा हो गया और मेरे पैंट में तम्बू बन गया।मैं खाना खाने लगा और कविता मेरे सामने सोफे पर बैठ गई, उसने अपना पेटीकोट कमर में खोंश रखा था.यह सब सोच कर मेरा लिंग छोटा होने लगा और मैं अपने हाथ से उसे ढकने की कोशिश करने लगा।ये कोशिश देखकर वो फिर बोली- अब क्यों ढक रहे हो? शर्म आ रही है?मैं- जी.